हस्तरेखा विज्ञान: बच्चों से जुड़े सबसे बड़े सवाल का जवाब यहां मिलेगा. हस्तरेखा विज्ञान बच्चों के बारे में क्या कहता है?

0
50

<

div>

ज्योतिष

लेखका-गजेंद्र शर्मा

|
<p><strong>नई दिल्ली, 26 नवंबर।</strong> ज्योतिषियों और हस्तरेखाविदों द्वारा अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्नों में से एक बच्चों से संबंधित है।  ज्यादातर लोग पूछते हैं कि उनके कितने बच्चे होंगे, कितनी बेटियां और कितने बेटे होंगे।  ये प्रश्न अक्सर सभी विवाहित और अविवाहित पुरुषों और महिलाओं द्वारा किसी न किसी समय पर पूछे जाते हैं।  सटीक उत्तर उस जिज्ञासु व्यक्ति की हथेली को देखकर दिया जा सकता है, लेकिन इसके लिए हस्तरेखा विशेषज्ञ का कुशल और सूक्ष्म अध्ययन होना आवश्यक है।  तो आइए जानते हैं बाल योग के बारे में हस्तरेखा शास्त्र क्या कहता है।</p>    <div class="big_center_img" data-cl-cnt="0" data-cnt-t="0" data-gal-src="https://hindi.oneindia.com/img/2021/11/-babies-1595404850-1630341657-1637899690.jpg"> <div> <figure><img data-pagespeed-lazy-src="https://hindi.oneindia.com/img/2021/11/-babies-1595404850-1630341657-1637899690.jpg" class="image_listical c2" alt="    हस्तरेखा विज्ञान: बच्चों से जुड़े सबसे बड़े सवाल का जवाब यहां मिलेगा" title=" हस्तरेखा विज्ञान: बच्चों से जुड़े सबसे बड़े सवाल का जवाब यहां मिलेगा" data-cl-slideshow="" data-cl-शीर्षक = "हस्तरेखा विज्ञान: बच्चों से संबंधित सबसे बड़े प्रश्न का उत्तर" data-cl-description="" data-cl-imageid="650392-0"" src="/img/loading.gif" onload="pagespeed.lazyLoadImages.loadIfVisibleAndMaybeBeacon(this);" onerror="this.onerror=null;pagespeed.lazyLoadImages.loadIfVisibleAndMaybeBeacon(this);"/></figure> </div> </div>  <p>हस्त सामुद्रिक शास्त्र में, संतान रेखाएं बुध पर्वत के शीर्ष पर कनिष्ठा उंगली की जड़ में होती हैं।  हथेली के बाहरी भाग से आने वाली क्षैतिज या क्षैतिज रेखा विवाह रेखा कहलाती है।  मोटे तौर पर कहा जाए तो विवाह रेखा बुध पर्वत को दो भागों में बांटती है।  इस विवाह रेखा के ऊपर के क्षेत्र में और कनिष्ठा उंगली की जड़ के बीच की खड़ी रेखाएं संतान रेखाएं होती हैं।  ये रेखाएँ स्पष्ट, लाल रंग की होनी चाहिए।  आदर्श रूप से, संतान रेखाएँ बहुत गहरी नहीं होनी चाहिए।  शुक्र पर्वत पर स्थित रेखाओं से भी संतान का विचार किया जाता है।  चूंकि कामेच्छा और यौन संबंध भी शुक्र पर्वत से ही देखे जाते हैं, इसलिए यहां से संतान का भी ध्यान रखना चाहिए।</p>  <p><span class="deepLinkPromo" id="content_650159"><a href="https://hindi.oneindia.com/astrology/when-where-and-how-to-see-the-planets-in-your-kundali-650159.html?ref_medium=Desktop&ref_source=OI-HI&ref_campaign=Also-Read"><img class="deepLinkPromoImg" data-pagespeed-lazy-src="https://hindi.oneindia.com/img/2021/11/777-1637758410.jpg" alt="ग्रहों की दृष्टि क्या है, कौन सा ग्रह किस भाव को देखता है?" title="ग्रहों की दृष्टि क्या है, कौन सा ग्रह किस भाव को देखता है?" src="/img/loading.gif" onload="pagespeed.lazyLoadImages.loadIfVisibleAndMaybeBeacon(this);" onerror="this.onerror=null;pagespeed.lazyLoadImages.loadIfVisibleAndMaybeBeacon(this);"/>ग्रहों की दृष्टि क्या है, कौन सा ग्रह किस भाव को देखता है?</a></span></p> <ul> <li>यदि बारीकी से अध्ययन किया जाए तो संतान रेखाओं को आसानी से गिना जा सकता है।  ये जितनी भी रेखाएं हों, जातक के अधिक से अधिक संतान होने की संभावना रहती है।</li> <li>गहरी और सीधी रेखाएँ पुत्र संतान का प्रतीक हैं और महीन, कोमल, महीन रेखाएँ पुत्री और बच्चे की संख्या को दर्शाती हैं।</li> <li>संतान रेखा स्पष्ट, दोषरहित, बिना काटी हुई होनी चाहिए।  इससे बाल योग अच्छा होता है।</li> <li>संतान रेखा पर द्वीप का चिन्ह संतान के कमजोर स्वास्थ्य का संकेत देता है।</li> <li>संतान रेखा पर तिल होने से संतान प्राप्ति में बाधा उत्पन्न होती है।</li> <li>टूटी हुई संतान रेखा संतान सुख से वंचित कर सकती है।</li> <li>संतति रेखाएँ नीचे से ऊपर की ओर चलती हैं।  यदि इसके सिरों को दो भागों में बाँट दिया जाए तो संतान को भारी कष्टों और कष्टों का सामना करना पड़ता है।</li> <li>संतान रेखा पर लाल तिल कमजोर स्वास्थ्य और बच्चे के अल्प जीवन का संकेत देता है।</li> </ul>           <div class="notification-outerblock clearfix" id="notification-articleblock" style="display:none;"> <p>

वनइंडिया की ब्रेकिंग न्यूज पाने के लिए। दिन भर समाचार अपडेट प्राप्त करें।

नोटिफिकेशन की अनुमति दें

आप पहले ही सदस्यता ले चुके हैं

अंग्रेजी सारांश

हथेली में रेखाएं जो आपके जीवन में बच्चों को इंगित करती हैं, पिंकी उंगली के नीचे या पिंकी और रिंग फिंगर दोनों के बीच कोई भी लंबवत रेखाएं हैं।

</div>

Source link

Leave a Reply